सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

धन संपत्ति के मामले में आपकी सोच...?

मैंने अपने कॉलेज के वर्ष लॉस एन्जेलस के एक बढ़िया होटल में सेवक के रूप में बिताये। वहाँ एक तकनीकी कार्यकारी अतिथि के रूप में अक्सर आया करता था। वह काफ़ी प्रतिभावान था, उसने लगभग 20 वर्ष से कुछ ही अधिक की आयु में वाई- फ़ाई का एक मुख्य घटक डिज़ाइन कर पेटेंट किया था। वह कई कंपनियां शुरु करके बेच चुका था और बेतहाशा कामयाब था। धन संपत्ति के साथ उसका जो संबंध था, उसे मैं असुरक्षा और बचकानी मूर्खता का मेल कहूँगा। वह सौ डॉलर के नोटों की कई इंच मोटी गड्डी साथ लेकर घूमता था, जिसे वह हर किसी को दिखाता था, फिर चाहे वे देखना चाहते हों या नहीं। वह बिना किसी संदर्भ के अपनी धन सम्पदा की खुलकर डींग मारता, ख़ासकर जब वह नशे में धुत होता। एक दिन उसने मेरे एक सहकर्मी को कई हज़ार डॉलर की रकम दी और कहा, "गली में जो ज़वाहरात की दुकान है, वहाँ जाओ और 1000 डॉलर के कुछ सोने के सिक्के लेकर आओ।" एक घंटे बाद, हाथ में सोने के सिक्के लिये, वह कार्यकारी और उसके दोस्त एक डॉक के चारों तरफ़ इकट्ठा हो गये जो प्रशांत महासागर के सामने था। फिर उन्होंने उन सिक्कों को पानी में फेंकना शुरू कर दिया। वे उन सिक्कों को

Motivational quotes

✔️ वोल्टेयर का यह अवलोकन मुझे बहुत पसंद है कि "इतिहास कभी खुद को नहीं दोहराता, मनुष्य हमेशा दोहराता है।"


✔️हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के डॉ. एडवर्ड बैनफ़ील्ड ने अमेरिका और पूरे संसार में उच्च प्रदर्शन करने वाले लोगों के नज़रियों और व्यवहार पर पचास साल से ज़्यादा समय तक शोध किया। उन्होंने एक खास गुण को पहचाना, जो उच्च प्रदर्शन करने वालों को कमतर प्रदर्शन करने वालों से अलग करता था। उन्होंने इसे 'दीर्घकालीन दृष्टिकोण' कहा। 

बैनफ़ील्ड ने पाया कि उच्च प्रदर्शन करने वालों ने भविष्य में दूर तक, अक्सर दस और बीस साल आगे तक, कल्पना की। उनके मन में यह स्पष्ट तसवीर थी कि उस वक़्त वे अपने जीवन और कामकाज में कहाँ पहुँचना चाहते हैं, फिर वे लौटकर वर्तमान में आए और उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि वे इस पल आगे की योजना बनाएँ, पीछे की तरफ देखें वही काम करें, जो भविष्य की तसवीर के सामंजस्य में हो। 


✔️तात्कालिक महत्व के अहसास और कर्म के प्रति रुझान की आदत डालें। ये वे अनिवार्य गुण है, जो सभी महान व्यवसायों में पाए जाते हैं।


✔️सफल मार्केटिंग का शुरुआती बिंदु यह याद रखना है कि ग्राहक हमेशा सही होते हैं। वे आपके नहीं, उनके कारणों से ख़रीदते हैं। ग्राहक स्वार्थी होते हैं और बहुत कुछ माँगते हैं। वे बेरहम, बेवफ़ा और चंचल होते हैं, लेकिन उनकी ज़रूरतों, इच्छाओं और दृष्टिकोणों के आधार पर वे हमेशा सही होते हैं। जब भी ग्राहकों को ऐसा लगता है कि किसी दूसरी जगह पर उनकी बेहतर सेवा होगी, तो वे ख़रीदने की जगह बदल लेंगे।


✔️किसी कंपनी की सफलता या असफलता मूलतः मार्केटिंग की सफलता या असफलता से तय होती है। यही बुनियादी कारण है। डन एंड ब्रैडस्ट्रीट के अनुसार 48 प्रतिशत कारोबार इसलिए असफल हुए, क्योंकि वे मार्केटिंग और बिक्री के क्षेत्र में धीमे या प्रभावहीन थे।


✔️यह याद रखें, "आप जहां हैं, वहां तक ​​आपको जो लाया हैं, वह आपको आगे ले जाने के लिए पर्याप्त नहीं है।"


✔️जोश बिलिंग्स ने लिखा था, “इंसान जो जानता है, उससे उसे कष्ट नहीं होता, कष्ट तो तब होता है, जब वह जो जानता है, वह सच नहीं होता।”


✔️गेटे ने कहा था, "सबसे महत्वपूर्ण तत्वों पर कभी भी प्रतिबंध नहीं लगाया जाना चाहिए, जो सबसे कम महत्वपूर्ण हैं।"


✔️हेनरी फोर्ड ने कहा था. "सबसे बड़ा लक्ष्य भी हासिल हो सकता है, बशर्ते आप इसे पर्याप्त छोटे हिस्सों में तोड़ लें।”.


✔️आप अपने समय का धीरे-धीरे बेहतर उपयोग करेंगे, आप अपने समय का अधिक लाभ उठाएंगे और आपके पास केवल बड़े परिणाम मिलेंगे। समय-समय पर आदर्श स्वास्थ्य और व्यक्तिगत सफलता के लिए आवश्यक है।


✔️सफलता के सबसे महत्वपूर्ण मूलमंत्र में से एक यह है कि 'अच्छी आदतें डालें और उन्हें अपना मालिक बना लें'।


✔️ आपके निधन से कहना चाहिए, "मेरा जीवन मूल्यवान और महत्वपूर्ण है और मैं इसका हर घंटा, हर मिनट को महत्वपूर्ण देता हूं।" मैं इन घंटों का सही इस्तेमाल करने वाला हूं, ताकि मैं अपने मौजूदा समय में भी आसानी से हासिल कर सकूं, ज्यादातर हासिल कर सकूं।''


✔️समय का प्रबंधन एक व्यावसायिक योग्यता है और सभी व्यावसायिक योग्यताएँ सीखी जा सकती हैं।


✔️ जॉन हट्समैन सीनियर का कहना था कि सत्यनिष्ठा की बदकिस्मती से ही वे तीन सफल हुए। वे चकमा देते हैं, "व्यवसाय या जीवन के खेल में अभिनय का कोई फर्क नहीं पड़ता। जाहिर तौर पर तीन तरह के लोग होते हैं, मठ, अल्पकालीन सफल और जो सफल हो जाते हैं वे बने रहते हैं। अलग-अलग चरित्र का होता है।"

✔️जैक वेल्च ने इसे वास्तविकता का सिद्धांत कहा है या "संसार को जैसा दिखता है वैसा देखना है, वास्तविकता वैसी नहीं है जैसा आप इसे देखना चाहते हैं।"

✔️एलेक मैकेंजी ने एक बार लिखा था, "हर दुर्घटना की जड़ में गलत धारणाएँ होती हैं।"

✔️फ्रांसीसी लेखक ब्लेज़ पास्कल ने लिखा था, "संसार के सभी अस्तित्व पैदा होते हैं, क्योंकि इंसान अकेले एक कमरे में नहीं होता।"

✔️आध्यात्मिक गुरु डॉ. वेन डायर ने कहा था,
आपके पास तब तक एक नई दुनिया नहीं हो सकती जब तक आप इसमें शामिल न हो जाएं। 

✔️अमेरिकी सेना की पहली महिला महासचिव मेजर जनरल गेल पोलॉक (रिटायर्ड) का कहना है, ''अगर आप लोगों को कोई ऐसी चीज करने का ऑर्डर देते हैं, जो उन्हें समझ नहीं आता तो वे उसमें अपना सब कुछ नहीं बताएंगे।'' सबसे महान प्रदर्शन और साहसिक टैब बाहर है, जब आप उन्हें यह क्यों बताते हैं कि यह महत्वपूर्ण है।"

✔️हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के डेविड मैक्लेलैंड ने युवाओं के चरित्र और व्यक्तित्व को आकार देने में रोल मॉडलों के प्रभाव पर शोध किया है। जैसा उन्होंने अपनी पुस्तक द एचीविंग सोसायटी में स्पष्ट किया, किसी व्यक्ति की युवा अवस्था में समाज जिन स्त्री-पुरुषों को रोल मॉडल मानता है, उनका प्रभाव उस व्यक्ति के चरित्र पर जीवनभर रहता है।

✔️अँग्रेज दार्शनिक बरट्रेंड रसेल ने एक बार कहा था, "किसी काम को कर पाने का इससे बेहतर सबूत और क्या होगा कि कुछ और लोग भी उसे पहले कर चुके हैं।" 

✔️न्यू टेस्टामेंट में ईसा मसीह ने किसी भी सिद्धांत की सच्चाई को पता लगाने का सही तरीक़ा कुछ यूँ बताया है, “उसके परिणामों से उसे जान जाओगे।"

✔️नोबल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्री मिल्टन लीडमैन ने कहा था, “किसी भी सिद्धांत या विचार को मापने का सही पैमाना इसके आधार पर भविष्य की संभावनाओं का खुलासा कर पाने की आपकी योग्यता है।"

✔️योहान वुल्फ़गैंग वोन गेथे ने कहा था, "प्रकृति किसी क़िस्म के मज़ाक़ में यक़ीन नहीं रखती। वह हमेशा सच होती है, हमेशा गंभीर, हमेशा सख़्त । वह हमेशा सही होती है और जो ग़लतियाँ और कमज़ोरियाँ होती हैं, उसका दोषी हमेशा इंसान ही होता है। उस इंसान की वह अवहेलना करती है जो उसे समझ नहीं पाता, लेकिन क़ाबिल और पवित्र लोगों के आगे वो समर्पण कर देती है और उसे अपने तमाम राज़ बता देती है।"

✔️विलियम जेम्स "मनोविज्ञान का एक नियम है कि अगर आप अपने दिमाग़ में उस बात की छवि बना लेते हैं जो आप बनना चाहते हैं और फिर उस छवि को काफ़ी देर तक वहाँ क़ायम रखते हैं तो आप जल्द ही वैसे ही बन जाएँगे जैसा कि आपने सोचा था।"

✔️रॉबर्ट कोलियर ने कहा था, "दुनिया में ऐसा कुछ भी नहीं है जो आप हासिल नहीं कर सकते - बस एक बार मन में यह ठानने की देर है कि इसे हासिल कर सकते हैं।"

✔️द ग्रेटेस्ट मैनेजमेंट प्रिंसिपल इन द वर्ल्ड में माइकल लेबॉफ़ कहते हैं, “जिस काम को पुरस्कृत किया जाता है, उसे ही किया जाता है।”

✔️योगी बेरा ने कहा था, “आप जिस लक्ष्य को देख नहीं सकते, उसे आप भेद भी नहीं सकते।"

✔️एक शीर्ष एक्ज़ीक्यूटिव ने लिखा था, “हमारा एकमात्र स्थायी प्रतिस्पर्धी लाभ यह है कि हममें अपने प्रतिस्पर्धियों की तुलना में सीखने और नए विचारों पर ज्यादा तेज़ी से अमल करने की योग्यता है।”

✔️जब विन्स लॉम्बार्डी ने ग्रीन बे पैकर्स के कोच का पद सँभाला, तो उनसे पूछा गया, 
“आप इस टीम के काम करने के तरीके को किस तरह बदलने वाले हैं? क्या आप नए दाँव सिखाने वाले हैं और नए विचार बताने वाले हैं कि गेंद को कैसे सँभाला जाए?" 
उन्होंने कहा, 
“नहीं, हम तो बुनियादी बातों में ज़बर्दस्त बनने वाले हैं।”

✔️अल्बर्ट श्वेट्ज़र ने कहा था, “आपको लोगों को मिसाल की पाठशाला में सिखाना चाहिए, क्योंकि वे किसी दूसरी पाठशाला में नहीं सीखेंगे।”

✔️वर्जिन ग्रुप के करिश्माई संस्थापक रिचर्ड ब्रान्सन "द अप्रेंटिस पर आधारित टेलीविज़न सीरीज़ के लिए एक लग्ज़री कार के ड्राइवर का वेश बनाकर गए थे। वे देखना चाहते थे कि शो में जिन उद्यमियों का परीक्षण हो रहा था, वे उनसे कैसा बर्ताव करते हैं। जिन लोगों ने उनके साथ ख़राब बर्ताव किया, उन्हें बाहर कर दिया गया। उनमें प्रभावी लीडर बनने की क्षमता नहीं थी।"

✔️प्रूडेंशियल बैच कैलिफ़ोर्निया रिएल्टी के पूर्व सीईओ स्टीव रॉजर्स के अनुसार, “आप अपने बारे में कैसा महसूस करते हैं, उसका इस बात से पूरा-पूरा संबंध होता है कि आप अपने खुद के काम में और लोगों के मैनेजर के रूप में कैसा प्रदर्शन करते हैं।”

✔️रसेल कॉनवेल ने अपनी प्रसिद्ध कहानी, एकर्स ऑफ़ डायमंड्स में इसका ज़िक्र किया है। इसमें कहा गया है कि अधिकांश मामलों में मौक़े आपके क़दमों तले ही होते हैं। वे ठीक वहीं हैं, जहाँ आप हैं। वे आपकी वर्तमान प्रतिभा, कौशल, क़ाबिलियत और अनुभव की पहुँच में ही हैं। वे आपके अपने कारोबार या उद्योग में मौजूद हैं। वे आपकी अपनी पृष्ठभूमि या कैरियर में ही मौजूद हैं। आपकी हीरों की कई एकड़ की खदान आपके बहुत ही पास है और आपको इसे खोजने की शुरुआत वहीं से करनी चाहिए।

✔️थियोडोर रूज़वेल्ट ने एक बार कहा था, “जो कर सकते हो करो, उन संसाधनों के साथ जो तुम्हारे पास हैं और ठीक वहीं पर जहाँ तुम हो।"यह कामयाबी की कुँजी है।"

✔️कामयाब लोग कुछ जल्दी उठ जाते हैं, पढ़कर खुद को तैयार करते हैं, योजना बनाते हैं और काग़ज़ पर उसे दर्ज करके खुद को आने वाले दिन के लिए तैयार करते हैं। थॉमस जेफरसन कहा करते थे, “सूरज कभी मुझे बिस्तर में नहीं पकड़ पाया।"

✔️ज्यादातर स्वनिर्मित मिलियनेअर्स कहते हैं, मैंने कभी जिंदगी में एक दिन भी काम नहीं किया, उन्होंने तो बस यह पता लगा लिया कि उन्हें सचमुच किसमें आनंद आता था और फिर उन्होंने उस चीज को ज्यादा से ज्यादा किया।

✔️एड फोरमैन कहते हैं, “अच्छी आदतों को अपनाना कठिन होता है, लेकिन वे जीवन को आसान बना देती हैं। दूसरी ओर, ख़राब आदतें अपनाने में आसान होती हैं लेकिन वे जीवन को कठिन बना देती हैं।"

✔️बास्केटबॉल खिलाड़ी माइकल जॉर्डन ने एक बार कहा था, "गुण हर एक में होता है, लेकिन योग्यता के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत होती है।"

✔️नेपोलियन हिल ने एक बार लिखा था कि अमेरिका में सफलता की कुंजी "यह पता लगाना है कि आपको सचमुच किस काम से प्रेम है और फिर उसे करते हुए अच्छी आजीविका कमाने का तरीका खोजना है।"

✔️लेखक और वक्ता जिम कैथकार्ड कहते हैं "अपने स्वभाव को पोषण दें।" यह बहुत महत्वपूर्ण सलाह है, और आपको अपने कैरियर में इसका पालन करना चाहिए।

✔️1920 के दशक में मैनेजमेंट परामर्शदाता मेरी पार्कर फोलेट ने लिखा था "घोड़े पर सवारी करने की सबसे अच्छी दिशा वही है, जिधर घोड़ा जा रहा हो।" खुद को विकसित करने का सबसे अच्छा तरीका अपने प्राकृतिक गुणों और रूचियों की दिशा में है। 

✔️पीटर ड्रकर ने लिखा था, "लीडर की ज़िम्मेदारी भविष्य के बारे में सोचना है, यह काम कोई दूसरा नहीं कर सकता।” 

✔️रणनीतिक नियोजक माइकल कामी कहते हैं, “जो लोग भविष्य के बारे में नहीं सोचते हैं, उनके पास कोई भविष्य नहीं हो सकता।” 

✔️लेखक और प्रबंधन विशेषज्ञ एलेक मैकेंज़ी कहते हैं, “भविष्य की भविष्यवाणी करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका इसका निर्माण करना है।"

✔️अगर आप नेपोलियन या सिकंदर महान या फ्लोरेंस नाइटिंगेल या मदर टेरेसा के जीवन पर नज़र डालें, तो आप पाएँगे कि वे सारे समय अविश्वसनीय रूप से सक्रिय लोग थे। वे सोचने-विचारने में बहुत ज़्यादा समय बर्बाद नहीं करते थे और घटनाओं के होने का इंतज़ार नहीं करते थे। वे ऐसे लोग थे, जिनके पास एक विचार था, एक अवधारणा थी, एक मिशन था और वे काम में जुट जाते थे।

✔️टॉम पीटर्स अपनी पुस्तक "इन सर्च ऑफ एक्सीलेंस" में कहते हैं कि वही कंपनियाँ शिखर पर पहुँचती हैं, जो ज़्यादा कोशिशें करती हैं, ज़्यादा गड्ढे खोदती हैं और ज़्यादा चीजें करती हैं। वे हिचकती नहीं हैं और विश्लेषण में महीनों या वर्षों का समय नहीं लगाती हैं, वे क़दम उठाकर कोई चीज़ कर देती हैं। जैसा कहा जाता है, "सिर्फ कोई चीज़ मत करो, आगे बढ़ो।”

✔️विंस्टन चर्चिल ने अपना सबसे मशहूर भाषण दिया, जिसमें उन्होंने कहा, “हम कभी समर्पण नहीं करेंगे!”
उन्होंने कहा, “मैं इतिहास का अध्ययन करता हूँ । और इतिहास आपको बताता है कि अगर आप पर्याप्त लंबे समय तक डटे रहते हैं, तो कुछ ना कुछ हमेशा होता है।” 

✔️साहस की एक और निशानी दिशा में बने रहने की योग्यता है। इसे साहसिक धैर्य कहा जाता है। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर इसी के लिए मशहूर थीं। चाहे परिस्थितियाँ कितनी ही मुश्किल क्यों ना हो, चाहें आप पर कितना ही ज़्यादा तनाव या दबाव क्यों ना हो, दिशा में बने रहें और वहीं डटे रहें। अगर आप पर्याप्त लंबे समय तक और पर्याप्त शिद्दत से दिशा में बने रहते हैं, तो कई बार सूरज बादलों से बाहर निकल आता है और चीजें आपके पक्ष में होने लगती हैं।

✔️ओरिसन स्वेट मार्डेन ने लिखा था, “उस इंसान के लिए कोई भाग्य नहीं है, जो उसकी शक्ति का अधिकार है, जो जानता ही नहीं है कि वह कब परास्त हो गया है, संकल्पवान प्रयास के लिए कोई भाग्य नहीं है, वि अजेय शार्क। उस व्यक्ति के लिए कोई असफलता नहीं होती, जो गिरने के बाद हर बार खड़ा हो जाता है, जो रबर की गेंद की तरह पीछे मुड़ जाता है, तब तक जुटा रहता है, जब हर कोई हौसला छोड़ देता है, जो तब भी धकाता रहता है है, जब बाकी सब मुड जाते हैं।”

✔️नीत्शे ने लिखा था, "कोई भी इंसान किसी को भी कुछ भी कर सकता है, रहस्य उसके पास इतना बड़ा क्यों हो सकता है।"

✔️एक युवा एक्जिक्यूटिव ने आईबीएम के थॉमस जे. वॉटसन ने पूछा, "मैं अपने करियर में अधिक तेजी से कैसे आगे बढ़ सकता हूं?" वॉटसन का जवाब था, "अपनी असफलता की दर मजबूत कर लो।" दूसरे शब्दों में, आप जितने अधिक बार पाए जाते हैं और प्रशिक्षित होते हैं, आप उतने ही अधिक तेज़ से सफल होते हैं।

✔️एपिक्टेटस ने लिखा था, "समानताएं इंसान को नहीं बनाई जाती हैं, वे तो सिर्फ उसकी असलियत उसके सामने आती हैं।"

✔️नेपोलियन ने कहा था, "किसी ने भी कभी कोई महान युद्ध नहीं जीता।"

✔️विंस्टन चर्चिल ने अपना सबसे प्रसिद्ध भाषण दिया, जिसमें उन्होंने कहा, "हम कभी वादा नहीं करेंगे!"

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जीवन को समझे,अपने विचारों को उद्देश्य में परिवर्तित करें

जीवन को समझने के लिए आपको पहले अपने आप को समझना होगा तभी आप जीवन को समझ पाएंगे जीवन एक पहेली नुमा है इसे हर कोई नहीं समझ पाता,  लोगों का जीवन चला जाता है और उन्हें यही पता नहीं होता कि हमें करना क्या था हमारा उद्देश्य क्या था हमारे विचार क्या थे हमारे जीवन में क्या परिवर्तन करना था हमारी सोच को कैसे विकसित करना था,  यह सारे बिंदु हैं जो व्यक्ति बिना सोचे ही इस जीवन को व्यतीत करता है और जब आखरी समय आता है तो केवल कुछ व्यक्तियों को ही एहसास होता है कि हमारा जीवन चला गया है कि हमें हमारे जीवन में यह परिवर्तन करने थे,  वही परिवर्तन व्यक्ति अपने बच्चों को रास्ता दिखाने के लिए करता है लेकिन वे परिवर्तन को सही मुकाम तक पहुंचाने में कामयाब हो पाते हैं या नहीं यह तो उनकी आने वाली पीढ़ी को देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है,  कि उनकी पीढ़ी कहां तक सक्षम हो पाई है और अपने पिता के उद्देश्य को प्राप्त कर पाने में सक्षम हो पाई है या नहीं, व्यक्ति का जीवन इतना स्पीड से जाता है कि उसके सामने प्रकाश का वेग भी धीमा नजर आता है, व्यक्ति अपना अधिकतर समय बिना सोचे समझे व्यतीत करता है उसकी सोच उसके उद्देश्य से

दौलत मनुष्य की सोचने की क्षमता का परिणाम है

आपका मस्तिष्क असीमित है यह तो आपकी शंकाएं हैं जो आपको सीमित कर रही हैं दौलत किसी मनुष्य की सोचने की क्षमता का परिणाम है इसलिए यदि आप अपना जीवन बदलने को तैयार हैं तो मैं आपका परिचय एक ऐसे माहौल से करवाने जा रहा हूं जो आपके मस्तिष्क को सोचने और आपको ज्यादा अमीर बनाने का अवसर प्रदान करेगा।  अगर आप आगे चलकर अमीर बनना चाहते हैं तो आपको एक ऐसा व्यक्ति होना चाहिए जिसके दरमियान 500 से अधिक व्यक्ति कार्यरत हो ऐसा कह सकते हैं कि वह एक इंडस्ट्रियलिस्ट होना चाहिए या एक इन्वेस्टर होना चाहिए उसको यह मालूम होना चाहिए की इन्वेस्टमेंट कैसे किया जाए। जिस प्रकार व अपनी दिमागी क्षमता का इन्वेस्टमेंट करता है उसी प्रकार उसकी पूंजी बढ़ती है यह उस व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह अपनी दिमागी क्षमता का किस प्रकार इन्वेस्टमेंट करें कि उसकी पूंजी बढ़ती रहे तभी वह एक अमीर व्यक्ति की श्रेणी में उपस्थित होने के लिए सक्षम होगा। जब कोई व्यक्ति नौकरी छोड़ कर स्वयं का व्यापार स्थापित करना चाहता है तो इसका एक कारण है कि वह अपनी गरिमा को वापस प्राप्त करना चाहता है अपने अस्तित्व को नया रूप देना चाहता है कि उस पर किसी का अध

जीवन में लक्ष्य कैसे प्राप्त करें।

आज के जीवन में अगर आप कुछ बनना चाहते हैं, तो आपको अपने जीवन को एक लक्ष्य के रूप में देखना चाहिए, लक्ष्य आपको वह सब कुछ दे सकता है, जो आप पाना चाहते हैं, आपको सिर्फ एक लक्ष्य तय करना है, और उस लक्ष्य पर कार्य करना है, कि आपको उस लक्ष्य को किस तरह हासिल करना है, इसे हासिल करने की आपको योजना बनानी है, और उस योजना पर आपको हर रोज मेहनत करनी है। किसी भी लक्ष्य को हासिल करने की समय सीमा किसी और पर नहीं केवल आप पर निर्भर करती हैं, कि आप उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए क्या कुछ कर सकते हैं, जब आप किसी लक्ष्य को हासिल करने का इरादा बनाते हैं, तो आपको यह पता होना चाहिए कि जिस इरादे को लेकर आप लक्ष्य को हासिल करने वाले हैं, वह इरादा उस समय तक कमजोर नहीं होना चाहिए जब तक कि आपका लक्ष्य पूर्ण न हो जाए। आपने देखा होगा कि लोग लक्ष्य निर्धारित करते हैं, जब उस लक्ष्य पर कार्य करने का समय आता है, तो कुछ समय तक तो उस लक्ष्य पर कार्य करते हैं, लेकिन कुछ समय बाद उनका इरादा कमजोर हो जाता है, वे हताश हो जाते हैं तो आप मान के चल सकते हैं कि वे जिंदगी में कुछ भी हासिल करने के लायक नहीं। इस सृष्टि पर उन्हीं लोग