सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

सोच को बदलने से जीवन बदलता है ? लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

धन संपत्ति के मामले में आपकी सोच...?

मैंने अपने कॉलेज के वर्ष लॉस एन्जेलस के एक बढ़िया होटल में सेवक के रूप में बिताये। वहाँ एक तकनीकी कार्यकारी अतिथि के रूप में अक्सर आया करता था। वह काफ़ी प्रतिभावान था, उसने लगभग 20 वर्ष से कुछ ही अधिक की आयु में वाई- फ़ाई का एक मुख्य घटक डिज़ाइन कर पेटेंट किया था। वह कई कंपनियां शुरु करके बेच चुका था और बेतहाशा कामयाब था। धन संपत्ति के साथ उसका जो संबंध था, उसे मैं असुरक्षा और बचकानी मूर्खता का मेल कहूँगा। वह सौ डॉलर के नोटों की कई इंच मोटी गड्डी साथ लेकर घूमता था, जिसे वह हर किसी को दिखाता था, फिर चाहे वे देखना चाहते हों या नहीं। वह बिना किसी संदर्भ के अपनी धन सम्पदा की खुलकर डींग मारता, ख़ासकर जब वह नशे में धुत होता। एक दिन उसने मेरे एक सहकर्मी को कई हज़ार डॉलर की रकम दी और कहा, "गली में जो ज़वाहरात की दुकान है, वहाँ जाओ और 1000 डॉलर के कुछ सोने के सिक्के लेकर आओ।" एक घंटे बाद, हाथ में सोने के सिक्के लिये, वह कार्यकारी और उसके दोस्त एक डॉक के चारों तरफ़ इकट्ठा हो गये जो प्रशांत महासागर के सामने था। फिर उन्होंने उन सिक्कों को पानी में फेंकना शुरू कर दिया। वे उन सिक्कों को

सोच को बदलने से जीवन बदलता है ?

जब कभी भी आप अपने सोचने का स्तर ऊंचा उठाते हैं, तो आप अपनी जिंदगी के स्तर को बदल देते हैं, और कई बार तो यह बदलाव आपको तत्काल नजर आता है, पूरे ब्रह्मांड में आपका केवल एक ही बात पर नियंत्रण है, और वह है आपकी सोच पर। आपके विचार और किसी घटना को लेकर आपकी समझ ही आपकी भावनाओं पर सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव डालती है, आपके विचार और आपकी भावनाएं ही आपके अगले कदम और उसके परिणामों को तय करते हैं, इस सब की शुरुआत आपकी सोच के साथ ही होती हैं। सकारात्मक विचार जीवन के स्तर को ऊंचा उठा देते हैं, वे आपको शक्ति देते हैं, और आपको ज्यादा ताकत और आत्मविश्वास का एहसास कराते हैं, सकारात्मक सोच महज एक उत्साह बढ़ाने वाला विचार नहीं है, इससे आपके व्यक्तित्व, आपके स्वास्थ्य, आपके उत्साह और आपकी सृजनात्मकता पर भी पर्याप्त और रचनात्मक प्रभाव होते हैं, आप जितने ज्यादा सकारात्मक और आशावादी होंगे, जिंदगी के हर क्षेत्र में उतने ही ज्यादा खुश होंगे।  जब कभी भी आप कोई नकारात्मक बात सोचते हैं, या बोलते हैं, तो आप अपनी शक्ति का एक अंश गंवा देते हैं, नकारात्मक सोच के कारण आप बीमार भी पड़ सकते हैं, और अपने संबंधों में भी